ग्रुप स्टडी के 5 जोरदार फ़ायदे

ग्रुप स्टडी के 5 जोरदार फ़ायदे: क्या आपका भी पढ़ाई में ध्यान नहीं लगता है? यदि हां तो चिंता मत करिए। दरअसल, अकेले में पढ़ाई करना कभी कभी बड़ा बोरिंग हो जाता है। और ये बोरियत तब ज्यादा होती है जब हम किसी कठिन विषय को पढ़ रहे हो। ऐसे में ग्रुप स्टडी करके अपनी इस समस्या तो टाला जा सकता है। साथ ही ग्रुप स्टडी के और भी तमाम फायदे है जो कि इस लेख में जानने को मिलेगा।

एकाग्रता बढ़ेगी

 हमारे दिमाग की एक बड़ी अजीब सी आदत है। हमारा दिमाग उस काम को करने का इक्षुक रहता है जिसे बहुत सारे लोग कर रहे हो। जैसे सरकारी नौकरियों में इतने सारे लोगों का भाग लेना। तो इस तरह हम अपने दिमाग के इस गुण को समझ कर इसका फायदा उठा सकते है। यदि आप घर में अकेले पढ़ रहे है और बाहर से किसी के खेलने या हंसकर बात करने की आवाजें आ रही है तो आप शायद ही पढ़ पाएंगे। वही यदि ग्रुप बनाकर पढ़ाई की जाए तो आपके मन का भटकना बहुत कम हो जाएगा। क्युकी उस जगह हर कोई पढ़ रहा होगा जिसे देख कर आपको भी पढ़ने में रुचि आएगी। साथ ही आपको पढ़ाई का माहौल मिलेगा और आप बाहरी डिस्ट्रैक्शन से भी बच सकेंगे।

ज्यादा सुविधा रहेगी

कभी कभी हमें पढ़ते समय किसी जरूरी चीज की जरूरत होती है लेकिन वो हमारे पास होती नहीं। जैसे मेरे पढ़ते समय अकसर ही पेन नहीं मिलता या फिर कुछ जरूरी हाइलाइट करने के लिए हाईलाइटर नहीं होता है। ये समस्या हर किसी के साथ आती है। और ऐसे समय में हम ऊब कर या चिढ़न में पढ़ना ही छोड़ देते है। लेकिन ये समस्या ग्रुप स्टडी में देखने को नहीं मिलती । ग्रुप बनाकर पढ़ने से सभी लोग एक दूसरे की चीज़ मांगकर अपना काम चला लेते है। और इस तरह पढ़ाई में कोई रुकावट नहीं आती। इसके अलावा हमें और भी ज्यादा किताबों का और कंटेंट का सहारा मिलता है। इससे हमारी तैयारी और भी ज्यादा मजबूत होती है।

ग्रुप स्टडी के 5 जोरदार फ़ायदे
ग्रुप स्टडी के 5 जोरदार फ़ायदे

डाउट दूर हो सकेगा

परीक्षा के समय या कोई खास चैप्टर पढ़ते समय ये उलझन सबको रहता है की क्या पढ़ना है और क्या नहीं। और इस उलझन के चलते हम ठीक से पढ़ाई नहीं कर पाते है। ऐसे में अपने दोस्तों से या कभी कभी अध्यापक से संपर्क करके डाउट दूर करना चाहते है। लेकिन परीक्षा के समय तो सब अपने में व्यस्त रहते है और कोई भी हमें ठीक ठीक कुछ बता नहीं पता है। इस समस्या से उभरने के लिए ग्रुप बनाकर पढ़ना एक व्यहतार विकल्प है। जब आप ग्रुप में पढ़ेंगे तो बड़ी आसानी से जान सकेंगे की और लोग क्या पढ़ रहे है। और सबके साथ चीजे साझा करके और सबकी राय लेकर आप भी आपने लिए एक बेहतर तरीका अपना सकेंगे। जिससे आपके सारे जरूरी चैप्टर और टॉपिक्स पूरे हो जाएंगे। और आप भी परीक्षा या टेस्ट में अच्छा नंबर हासिल कर सकेंगे।

चर्चा परिचर्चा से भी मिलेगा लाभ

ज्ञान बाटने से बढ़ता है वाली बात तो हम सब ने बचपन से ही सुनी है। इसको कभी महसूस भले न किया हो। लेकिन ये बात बिलकुल सत्य है। और इसको ग्रुप स्टडी में आजमाया जा सकता है। दरअसल, जब हम पढ़ाई करते है तो चीजों को किसी खास नजरिए से देखते है। और किसी खास टॉपिक पर अधिक ध्यान भी देते है। जबकि हमारा ही कोई मित्र उसी टॉपिक को किसी दूसरे नजरिए से देखता है और दूसरे टॉपिक पर अधिक ध्यान देता है। अतः यदि दोनों मित्रों यानी आपका और आपके दूसरे मित्रों का नजरिया मिला दिया जाए तो कुछ खास और बहुत व्यहतरीन बन सकता है। इसलिए स्टडी ग्रुप बनाने की यही सबके बड़ी वजह हो सकती है । ग्रुप स्टडी में चर्चा करके आप विषय के बारे में अपने समझ को और भी व्यापक कर सकते है

ग्रुप स्टडी के 5 जोरदार फ़ायदे
ग्रुप स्टडी के 5 जोरदार फ़ायदे

थकान के समय होगा स्वस्थ मनोरंजन

स्टडी ग्रुप के बारे में एक बड़ा कुचलन है की इस तरह पढ़ने से लोग पढ़ाई कम और बाते ज्यादा करते है। जाहिर तौर पर ग्रुप स्टडी में बाते ज्यादा होती है और कभी कभी बाते करते ही सारा समय गुजर जाता है। लेकिन यदि खुद पर थोड़ा नियंत्रण रखा जाए और बातों का समय थोड़ा कम कर दिया जाए तो यही बाते हमारे लिए फायदेमंद हो जाती है। क्युकी बातों से हमारे दिमाग को आराम मिलता है और फिर से ध्यान लगाने के लिए अंदर से ऊर्जा आती है। वही जब हम अकेले में पढ़ते है तो दिमाग को आराम देने के लिए अपने फोन की तरफ ही भागते है। और सोशल मीडिया में उलझ कर रह जाते है। मसलन, सोशल मीडिया में समय बर्बाद करने से अच्छा है हम ग्रुप स्टडी में बाते कर ले। हालांकि ये बाते जरूरत के हिसाब से होनी चाहिए और इसपर हमें नियंत्रण रखना चाहिए।

Bonus Point: ग्रुप स्टडी के दौरान कुछ जरूरी बातों का रखें ध्यान

ग्रुप स्टडी एक विज्ञान के खोज जैसा है । इसका सही उपयोग हमें अनगिनत लाभ दे सकता है और लापरवाही हमें उतना ही नुकसान पहुंचा सकती है। हम अकसर देखते है की ग्रुप बनाकर पढ़ने वाले आपस में सिर्फ बाते कर रहे है या प्लान बनाकर कही निकल पड़े है । पढ़ाई करना तो वो भूल ही जाते है । खैर ऐसा आपके साथ न हो इसके लिए कुछ बातों को हमेशा ध्यान में रखे और इसको अपने स्टडी ग्रुप में जरूर लागू करें।

  • जहां पर ग्रुप के सभी लोग इकट्ठा हो वहां पर कोई टीवी या फिर वीडियो गेम नहीं होना चाहिए
  • आप सभी ग्रुप मेंबर को अपने फोन और टैब लेकर आने से बचना चाहिए
  • कभी भी अपने खास मित्रों के साथ स्टडी ग्रुप नहीं बनाना चाहिए। क्योंकि उनके साथ बातचीत और मस्ती मजाक में पड़ने का डर रहता है।
  • हमेशा अपने ग्रुप मेंबर से दूरी बनाकर ही बैठे । यानी पास में एक जगह सटकर बैठने से बचे । साथ ही कोशिश करें की आप सब का चेहरा भी एक दूसरे की तरफ न हो।
  • ऐसी जगह पर ही ग्रुप स्टडी के लिए इकट्ठा हो जहां साफ सफ़ाई हो और सोर गुल भी काम हो या बिलकुल ना हो।

यदि आप इन सब तरीकों को अपनाते है तो आपका स्टडी ग्रुप बड़ा प्रभावशाली रहेगा और आप बेहतर तरीके से पढ़ाई कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें: विदेशी भाषा सीखने के 5 अच्छे कारण

About Author /

Adarsh Kumar Tiwari is a content writer. Adarsh kumar is born and brought up in Dayalapur, Jaunpur, Uttarpradesh. Currently, He is persuing bachelor degree in journalism from University of Allahabad and looking forward for a bright future in the field journalism.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Start typing and press Enter to search